“माना आप हीरा हो पर क्या पता अपनी गलतियों को सही कर कोहिनूर बन जाओ’

“माना आप हीरा हो पर क्या पता अपनी गलतियों को सही कर कोहिनूर बन जाओ’

“माना आप हीरा हो पर क्या पता अपनी गलतियों को सही कर कोहिनूर बन जाओ’एम्स हॉस्टल के मैस में आयोजित ओपन माइक में कविता पढ़ती आशना सचदेवा।
सिटी भास्कर| जोधपुर
परतंत्र रूपी इस धरती पर…

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

Close Menu