गोल्डन ग्लोव की रेस में बेल्जियम के थिबाउट कोर्टोइस सबसे आगे, पिकफोर्ड, लोरिस और सुबासिच दे रहे कड़ी चुनौती

गोल्डन ग्लोव की रेस में बेल्जियम के थिबाउट कोर्टोइस सबसे आगे, पिकफोर्ड, लोरिस और सुबासिच दे रहे कड़ी चुनौती

फुटबॉल विश्व कप खत्म होने को है। फ्रांस और इंग्लैंड खिताबी मुकाबले में जगह बना चुके हैं। 15 जुलाई को पता चलेगा कि इस टूर्नामेंट की चैम्पियन ट्रॉफी कौन उठाएगा। उस दिन गोल्डन बूट, गोल्डन बॉल, गोल्डन ग्लोव पुरस्कार पाने वाले खिलाड़ी का नाम भी तय होगा। हैरी केन के 6 गोल करने के बाद से ही उन्हें गोल्डन बूट का तगड़ा दावेदार बताया जाने लगा है। वहीं गोल्डन ग्लोव पुरस्कार की रेस में बेल्जियम के थिबाउट कोर्टोइस सबसे आगे चल रहे हैं। उन्होंने 6 मैच में 22 गोल बचाए हैं। हालांकि इंग्लैंड के जॉर्डन पिकफोर्ड, फ्रांस के हुगो लोरिस और क्रोएशिया के डेनियल सुबासिच भी उन्हें कड़ी चुनौती दे रहे हैं। इन सभी गोलकीपर्स ने नाजुक मौकों पर अपनी-अपनी टीम को जिताने में अहम भूमिका निभाई है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

Close Menu