अगर 2019 में मोदी विरोधी एक साथ आ गए तो पांच बड़े राज्यों में बीजेपी के लिए हो जाएगी मुश्किल

अगर 2019 में मोदी विरोधी एक साथ आ गए तो पांच बड़े राज्यों में बीजेपी के लिए हो जाएगी मुश्किल

2019 के लिए बीजेपी के विरोध में दूसरी राजनीतिक पार्टियां एक साथ होती दिख रही है। जिसका रिजल्ट कैराना उपचुनाव में देखने को मिला। पार्टी की बुरी तरह से हार हुई। कैराना में मोदी विरोधी पार्टियों को एक फॉर्मूला मिला। जिसने बीजेपी के साथ खड़ी पार्टियों को भी सोचने पर मजबूर कर दिया है। शायद यही वजह है कि महाराष्ट्र में शिवसेना, बिहार में जेडीयू और यूपी में पार्टी के ही विधायक ऐसे बयान दे रहे हैं जिनसे लगता है कि सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। ऐसे में लोकसभा चुनाव में बीजेपी के लिए सबसे ज्यादा मुश्किल खड़ी हो सकती है। अगर मोदी विरोधी एक साथ हो गए। बीजेपी का साथ दे रही पार्टियों ने भी दूरी बना ली तो 2014 में 21 राज्यों में सबसे ज्यादा वोट लाने वाली सिंगल लार्जेस्ट पार्टी बनी BJP 2019 में 8 राज्यों में कमजोर हो सकती है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

Close Menu